Cricket Rules in Hindi 2022 | क्रिकेट के नियम

Cricket Rules in Hindi में बात करने से पहले हम ये जानते हैं कि कैसे आज के समय में क्रिकेट बहुत ही प्रचलित और रोचक खेल बन गया है| इसे शहर और गांव की गलियों से लेकर पुरे विश्व में खेला जाता है | क्रिकेट ऐसा खेल है जिसे हर उम्र के लोगों द्वारा पसंद किया जाता है , हालाँकि यह एक आउटडोर खेल है जिसे बड़े मैदान या खुली जगह में खेला जाता है | इस ब्लॉग में हम क्रिकेट से जुड़े कुछ नियम ( Cricket Rules in HIndi) के बारे में जानेंगे | इस ब्लॉग में हम क्रिकेट से जुड़े कुछ तथ्य और नियमों के बारे में जानेंगे |

क्रिकेट घर से बाहर खेला जाने वाला खेल है | क्रिकेट खेलने के लिए बैट, बॉल और विकेट आवश्यक सामग्री है | अतः क्रिकेट को हिंदी में लंब दंड गोल पिंड धर पकड़ प्रतियोगिता भी कहा जाता है|

  • क्रिकेट दो टीमों के बीच खेला जाता है , दोनों टीमों से 11 खिलाडी खेलते हैं | इसके अलावा 12वां खिलाड़ी,  जो फील्डिंग के लिए किसी भी चोटिल पेलियर की जगह लेता है। इसके अलावा 12वां खिलाड़ी होता है जो टीम के उस सदस्य की जगह लेता है, जो किसी कारणवश मैदान से बाहर हो जाता है या चोटिल हो जाता है | 12वां खिलाड़ी बल्लेबाजी, गेंदबाजी या कीपिंग नहीं कर सकता है |
  • टीम की क्षेत्ररक्षण या बल्लेबाजी करने का निर्णय टॉस से होता है | टॉस जीतने वाली टीम निर्णय लेती है की वो बालेबाजजी करेंगे या क्षेत्ररक्षण |
  • दोनों टीमें बारी बारी से बल्लेबाजी और गेंदबाजी करती हैं | बल्लेबाजी करने वाली टीम ज्यादा रन बनाने की कोशिश करती हैं वहीं गेंदबाजी करने वाली टीम विपक्षी टीम को रन बनाने से रोकती है |
  • क्षेत्ररक्षण करने वाली टीम हमेशा बल्लेबाज को आउट करने की कोशिश करती है और कम से कम रन बनने देना चाहती है |
  • क्रिकेट के मैदान पे कोई भी निर्णय मैदान पे मौजूद 2 अंपायर लेते हैं | इनके अलावा एक 3र्ड अंपायर होता है जो की विषम परिस्थितियों में टेक्नोलॉजी के हेल्प से Cricket Rules in Hindi के अनुसार अपना निर्णय देते हैं | ग्राउंड पे मौजूद अंपायर किसी भी निर्णय के लिए 3र्ड अंपायर को रेफर कर सकते हैं | या फिर कोई भी टीम जिसके पास रिव्यु लेने का ऑप्शन है वि ग्राउंड अंपायर के निर्णय के बाद 3र्ड अंपायर से रिव्यु कर सकता है |
  • दोनों ही टीमों को क्रिकेट के प्रारूप के नियमों का पालन करना होता है नहीं तो वो दंड के भागी होते हैं |  दंड का अंतिम निर्णय ( according to cricket rules in hindi) मैच रेफरी लेते हैं |

रन या स्कोर के क्रिकेट के नियम(Cricket Rules in Hindi )

बल्लेबाज के द्वारा बनाए गए रन बल्लेबाज के निजी स्कोर और टीम के स्कोर दोनों में जुड़ता है . वही कुछ अतिरिक्त रन होते हैं जो की केवल टीम के कुल स्कोर में जुड़ता है | रन बनाने के विस्तार Cricket rules in hindi विवरण निचे दिया गया है |

  • विकेट के बीच दौड़ कर

बल्लेबाज गेंद को मारने के बाद विकेट के बीच दौड़ कर रन पूरा करते हैं|  दोनों बल्लेबाज को पिच के एक छोर से दूसरे छोर के पहुचने को 1 रन माना जाता है | जितनी दौडें पूरी होती हैं उतना रन माना जाता है और वो टीम के स्कोर में भी जुट जाता है |

  • चौका मार कर

जब बल्लेबाज गेंद को मारता है और गेंद जमीन से होते हुए निर्धारित सीमा के बाहर चली जाती है तो उसे 4 रन या चौका माना जाता है | टीम के स्कोर में 4 रन जुट जाते हैं |

  • सिक्स या छक्का मार कर

जब बल्लेबाज गेंद को मारता है और गेंद उड़ते हुए हुए निर्धारित सीमा के बाहर चली जाती है तो उसे सिक्स या छक्का माना जाता है | टीम के स्कोर में 6 रन जुट जाते हैं |

  • अतिरिक्त रन

बल्लेबाजों के द्वारा रन बनाने के अलावा, टीम को अतिरिक्त रन मिल सकते हैं |

  • अतिरिक्त रन बॉलर की गलती के कारण नो बॉल या वाइड पे ( Cricket rules in Hindi) मिल सकता है |
    • फील्डर की गलती के कारण नो बॉल, बाय और लेग बाई पे मिल सकता है |
    • किसी नियम का उल्लंघन करने पे अंपायर द्वारा पेनल्टी रन विपक्षी टीम को दिया जा सकता है | जो की टीम के स्कोर में जुड़ता है |

आउट होने के क्रिकेट में नियम (Cricket Rules in Hindi)

एक बल्लेबाज विभिन्न तरीकों से आउट हो सकता है |

  • कैच( Catch) :

बल्लेबाज के गेंद मारने के बाद अगर फील्डर सीमा के अंदर, गेंद जमीं पर गिरने से पहले पकड़ लेता है तो बल्लेबाज कैच आउट हो जाता है |

  • बोल्ड ( Bold ) :

गेंदबाज अगर गेंदबाजी करके बॉल से स्टंप की गिल्लियां गिरा देता है तो बल्लेबाज आउट हो जाता है | अगर बॉल लगने के बाद भी गिल्ली नहीं गिरी तो फिर बल्लेबाज आउट नहीं होता है |

  • एल बी डब्लू  लेग बिफोर विकेट ( LBW) :

जब गेंद बल्लेबाज के लेग (पैर) से टकराती है और ऐसा प्रतीत होता है कि बॉल लेग से नहीं टकराती तो विकेट पे जा लगती तो अंपायर बल्लेबाज को आउट करार देता है | ये निष्कर्ष अनुमान और टेक्नोलॉजी की सहायता से लिया जाता है |

Cricket Rules in Hindi Keeper trying to get the Batsman out
Keeper trying to get Batsman out
  • हिट विकेट ( Hit Wicket ) :

जब बल्लेबाज के द्वारा गलती से गिल्ली गिर जाती है तो उसे हिट विकेट आउट दिया जाता है |

  • स्टंप्ड आउट :

बॉल मरते वक़्त बल्लेबाज गेंद से संपर्क नहीं कर पाता और वो क्रीज़ से बाहर होता है | उस समय विकेटकीपर गेंद ग्लप्स से पकड़ कर गिल्ली गिरा कर, बल्लेबाज को आउट कर सकता है |

  • गेंद पकड़ना:

अगर बल्लेबाज गेंद को हाथ से पकड़ ले या आउट होने के डर से गेंद को हाथ से छू ले तो उसे आउट ( Cricket Rules in Hindi ) माना जाता है |

  • टाइम आउट :

एक बल्लेबाज के आउट होने के बाद अगर दूसरा बल्लेबाज निर्धारित समय के पहले ग्राउंड में नहीं आता है तो उसे आउट ( Cricket Rules in hindi) दिया जा सकता है | निर्धारित समय खेल के प्रारूप के अनुसार अलग अलग है आमूमन यह 3 मिनट का है |

  • बाधा डालना :

बल्लेबाज अगर दूसरे टीम को गेंद पकड़ने में रुकावट पैदा करे या गेंद पकडे तो आउट माना जाता है | अगर थ्रो करते समय भी बल्लेबाज रुकावट पैदा करे तो उसे आउट माना जायेगा |

  • मांकड़ आउट :

अगर गेंदबाज के बॉल फेंकने से पहले नॉन स्ट्राइकर बल्लेबाज क्रीज़ से बाहर निकलता है तो गेंदबाज बॉल स्टंप पे मार के आउट ( Cricket Rules in hindi ) कर सकता है |

Leave a Reply

Your email address will not be published.